Study Material | Prelims Test Series
Drishti


 Prelims Test Series 2018 Starting from 10th December

प्रिय प्रतिभागी, 10 दिसंबर के टेस्ट की वीडियो डिस्कशन देखने के लिए आपका यूज़र आईडी "drishti" और पासवर्ड "123456" है। Click to View
यू.के.पी.एस.सी. - विज्ञप्ति का संक्षिप्त विवरण

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (यू.के.पी.एस.सी.), हरिद्वार द्वारा आयोजित विभिन्न परीक्षाओं के लिये सर्वप्रथम आयोग द्वारा इनसे सम्बंधित ‘विज्ञप्ति’ जारी की जाती है उसके पश्चात् ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू होती है। इस ‘विज्ञप्ति’ में फार्म भरने की प्रक्रिया से लेकर अंतिम चयन तक के समस्त पहलुओं का विस्तृत विवरण दिया रहता है, इसलिये अभ्यर्थियों को इसका अध्ययन अवश्य कर लेना चाहिये,  जिससे कि वे इन परीक्षाओं की प्रकृति से भली-भाँति परिचित हो जाएँ और अपने आपको मानसिक रूप से शुरुआत से ही इसके अनुरूप तैयार कर लें। इस विज्ञप्ति से सम्बंधित कुछ महत्त्वपूर्ण एवं अनिवार्य पहलुओं का विवरण नीचे दिया गया है- 

पदों का विवरण:

क्र. सं.  पदनाम/विभाग
01. डिप्टी कलेक्टर { उत्तराखंड सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा) कार्मिक विभाग }
02. पुलिस उपाधीक्षक (गृह विभाग)
03. ज़िला कमान्डेन्ट होमगार्ड (गृह विभाग)
04. अधीक्षक कारागार (गृह विभाग)
05. सहायक आयुक्त (वित्त विभाग)
06. वित्त अधिकारी (वित्त विभाग)
07. संपादक (सूचना विभाग)
08. सहायक निबंधक (सहकारिता विभाग)
09. सहायक नगर आयुक्त/सहायक नगर अधिकारी/अधिशासी अधिकारी श्रेणी-2 (शहरी विकास विभाग)
10. सहायक नगर नियोजक (आवास विकास विभाग)
11. वाणिज्य कर अधिकारी (वित्त विभाग)
12. ज़िला बचत अधिकारी (वित्त विभाग)
13. ज़िला सूचना अधिकारी (सूचना विभाग)
14. फीचर लेखक (सूचना विभाग)
15. ज़िला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी (अल्पसंख्यक कल्याण विभाग)

राज्य सरकार द्वारा पदों की संख्या घटाई अथवा बढ़ाई जा सकती है।

पद का स्वरूपः  सहायक नगर आयुक्त/सहायक नगर अधिकारी/अधिशासी अधिकारी श्रेणी-2 एवं सहायक नगर नियोजक का पद अराजपत्रित/अंशदायी पेंशन तथा शेष राजपत्रित/अंशदायी पेंशनयुक्त हैं।

शैक्षिक योग्यता:

अनिवार्य शैक्षणिक अर्हता:

अभ्यर्थी केंद्रीय अधिनियम या राज्य अधिनियम द्वारा स्थापित किसी विश्वविद्यालय या शैक्षणिक संस्थान या विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, 1956 (अधिसूचना क्रमांक 03 सन् 1956) के अधीन समझे गए  विश्वविद्यालय से स्नातक उपाधि धारक होना चाहिये या समतुल्य अर्हता रखता हो।

अधिमानी अर्हताः 

अन्य बातों के समान होने पर ऐसे अभ्यर्थी को सीधी भर्ती के मामले में अधिमान दिया जाएगा, जिसनेः प्रादेशिक सेना में दो वर्ष की न्यूनतम अवधि तक सेवा की हो या राष्ट्रीय कैडेट कोर का "बी" प्रमाणपत्र प्राप्त किया हो।

आयु सीमा:

    • आयु की गणना विज्ञापन में दी गई तिथि के अनुसार की जाएगी। 
    • अभ्यर्थी की आयु उपरोक्त तिथि को न्यूनतम 21 वर्ष होनी चाहिये तथा अधिकतम 42 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिये। परंतु अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़े वर्गों तथा अन्य ऐसी श्रेणियों के अभ्यर्थियों के मामले में जिन्हें सरकार द्वारा समय-समय पर अधिसूचित किया जाए, अधिकतम आयु उतनी बढ़ाई जाएगी जैसा कि विहित किया जाए।

आयु सीमा में छूटः

    • उत्तराखंड सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा) नियम-2005 के प्राविधानानुसार जिन वर्षों में उक्त पद हेतु परीक्षा का आयोजन नहीं किया गया है, उन वर्षों के लिये अधिकतम आयु सीमा में छूट प्रदान की जाएगी। उक्त छूट केवल डिप्टी कलेक्टर पद हेतु ही प्रदान की जाएगी। 
    • प्रश्नगत विज्ञापन से पूर्व वर्ष 2014 में विज्ञापन प्रकाशित किया गया था तथा वर्ष 2015 में उक्त पदों हेतु कोई विज्ञापन प्रकाशित नहीं किया गया। इस परिप्रेक्ष्य में डिप्टी कलेक्टर पद हेतु अधिकतम आयु सीमा में 1 वर्ष की छूट प्रदान की जाएगी।
    • विभिन्न श्रेणियों/उपश्रेणियों हेतु नियमावली एवं समय-समय पर प्रवृत्त शासनादेशानुसार प्रदत्त उच्चतम आयु सीमा में छूट अनुमन्य होगी। उच्चतम आयु सीमा में छूट संबंधी शासनादेशों के विस्तृत विवरण हेतु आयोग की वेबसाइट देखें।
    • उर्ध्व/क्षैतिज आरक्षण शासन द्वारा निर्गत तथा अद्यतन प्रचलित शासनादेश के आधार पर केवल उत्तराखंड के अधिवासी को ही अनुमन्य है।
    • ऑनलाइन आवेदन पत्र के संबंधित कॉलम में उर्ध्व/क्षैतिज श्रेणी/उपश्रेणी की सूचना प्रदान करने पर ही आरक्षण अनुमन्य किया जाएगा।
    • यदि अभ्यर्थी क्षैतिज आरक्षण के अंतर्गत एक से अधिक उपश्रेणी में आरक्षण का दावा करता है तो वह केवल एक उप श्रेणी जो उसके लिये अधिक लाभदायक होगी, का लाभ पाने का पात्र होगा। 
    • आरक्षण के लाभ का दावा करने वाले अभ्यर्थी अपनी श्रेणी/उपश्रेणी के समर्थन में निर्धारित प्रारूप पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाणपत्र अवश्य प्राप्त कर लें।

शारीरिक मापदंड:

1. पुलिस उपाधीक्षकः उत्तराखंड पुलिस सेवा नियमावली, 2009 के प्रावधानों के अनुसार निम्नवत शारीरिक मापदण्ड अपेक्षित हैं-

(क) ऊँचाईः

वर्ग पुरुष अभ्यर्थी महिला अभ्यर्थी
सामान्य वर्ग एवं अन्य वर्ग 167.7 सेमी. 152 सेमी
अनुसूचित जनजाति  160 सेमी. 147 सेमी.
पर्वतीय क्षेत्र 162.6 सेमी. 147 सेमी.


(ख) सीने की माप (केवल पुरुष अभ्यर्थियों के लिये):

क्रमांक वर्ग बिना फुलाए  फुलाने पर
1. अनुसूचित जनजाति व पर्वतीय क्षेत्र के अभ्यर्थी 76.5 सेमी. 81.5 सेमी.
2. सामान्य व अन्य अभ्यर्थी 78.8 सेमी. 83.8 सेमी.


(ग) शारीरिक वज़न (केवल महिला अभ्यर्थियों के लिये):     न्यूनतम 45 किग्रा.

अन्य:
उत्तराखंड पुलिस सेवा में नियुक्ति हेतु अभ्यर्थी की एक आँख 6/6 व दूसरी आँख 6/9 से कम दृष्टि नहीं होनी चाहिये। अतः बिना चश्मे के दाहिने हाथ से काम करने वाले अभ्यर्थियों के लिये दायीं आँख 6/6 और बायें हाथ से काम करने वाले अभ्यर्थियों की बायीं आँख 6/6 होनी चाहिये और वर्णांधता/भैंगापन से पूर्ण रूप से मुक्त होना चाहिये।
अभ्यर्थी का सटा घुटना, सपाट पैर, बो लैग, वैरिकोस वेन, हकलाना, विकलांगता और अन्य विकृतियों व अन्य समस्याएँ जो पुलिस अधिकारी की ड्यूटी में किसी प्रकार की बाधा पैदा करे, को आयोग्य माना जाएगा। उक्त संबंध में चिकित्सा परिषद द्वारा निर्धारित प्रतिवेदन में अभ्यर्थी के उपयुक्त होने का प्रमाण दिये जाने पर अभ्यर्थी के अन्तिम रूप से उत्तराखंड पुलिस सेवा में नियुक्ति प्रदान की जाएगी।

2. ज़िला कमाण्डेन्ट होमगार्ड-

  ऊँचाई  सीना (बिना फुलाए)  सीना (फुलाने पर)
पुरुष अभ्यर्थी  165 सेमी. 84 सेमी. 89 सेमी.
महिला अभ्यर्थी  150 सेमी. 79 सेमी. 84 सेमी.
पुरुष अभ्यर्थी (कुमायूँ और गढ़वाल मण्डलों और अनुसूचित जनजाति)  160 सेमी. 84 सेमी. 89 सेमी.

3. अधीक्षक कारागारः

  • ऊँचाई-168 सेमी. कुमायूँ और गढ़वाल सम्भाग के अभ्यर्थियों की दशा में 163 सेमी. 
  • सीने का घेरा- 81.3 सेमी. (बिना फुलाए) और 86.3 सेमी. (फुलाने पर)
  • दृष्टि- 6/6

 

प्रारंभिक परीक्षा का पाठ्यक्रम
मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम
 


Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.