Study Material | Test Series
Drishti


 मॉडल पेपर: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा - 2018 (सामान्य अध्ययन - प्रश्नपत्र - I)  Download

बेसिक इंग्लिश का दूसरा सत्र (कक्षा प्रारंभ : 22 अक्तूबर, शाम 3:30 से 5:30)
[1]

भारतीय संसद किस रीति से प्रशासन पर नियंत्रण करती है।

A)

संसदीय समितियों के माध्यम से।

B)

विभिन्न मंत्रालयों की परामर्शदात्री समितियों के माध्यम से।

C)

प्रशासकों से आवधिक प्रतिवेदन भिजवाकर।

D)

कार्यपालिका को रिट जारी करने के लिये बाध्य करके।

Show Answer +
[2]

राज्यों के राज्यपाल के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः

  1. भारत के संविधान में उपबंध है कि प्रत्येक राज्य के लिये एक राज्यपाल होगा।
  2. भारत में एक ही व्यक्ति को एक ही समय में दो या दो से अधिक राज्यों का राज्यपाल नियुक्त नहीं किया जा सकता।
  3. राज्यों के राज्यपाल की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा की जाती है, किन्तु जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल की नियुक्ति राष्ट्रपति नहीं करता है।
  4. राज्यों के राज्यपाल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायमूर्ति या उसकी अनुपस्थिति में उस न्यायालय के उपलब्ध वरिष्टतम न्यायाधीश के समक्ष शपथ या प्रतिज्ञा लेते हैं। शपथ या प्रतिज्ञा का प्रारूप संविधान की तीसरी अनूसूची में दिया गया है।

उपरोक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 4

C)

केवल 1, 3 और 4

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[3]

भारत के राज्यपाल के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?

A)

राज्यपाल नियुक्त होने के लिये न्यूनतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिये तथा उसे जन्म से भारत का नागरिक होना चाहिये।

B)

राज्यपाल अपने पद ग्रहण करने की तारीख से पाँच वर्ष तक पद धारण करेगा। पद की अवधि के समाप्त होने के पश्चात् भी तब तक पद धारण करता रहेगा, जब तक उसका उत्तराधिकारी पद ग्रहण नहीं कर लेता।

C)

राज्यपाल राष्ट्रपति के प्रसादपर्यंत पद धारण करता है और भारत के संविधान में उसको पद से हटाने हेतु किसी प्रकार की प्रक्रिया का उल्लेख नहीं है।

D)

संविधान के अनुच्छेद-150 में उपबंध है कि संसद के किसी भी सदन का कोई सदस्य या राज्य के  विधानमंडल के किसी सदन का कोई सदस्य राज्यपाल नियुक्त हो जाता है तो राज्यपाल के रूप में पद ग्रहण करने की तारीख से उसकी उस सदन की सदस्यता समाप्त हो जाएगी।

Show Answer +
[4]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः

  1. राज्यों के उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की नियुक्ति राज्यपाल द्वारा की जाती है, ठीक वैसे ही जैसे उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है।
  2. राज्यों के राज्यपालों के वेतन व भत्ते संविधान की दूसरी अनुसूची के तहत भारत की संचित निधि पर भारित होते हैं।
  3. राष्ट्रपति उसी व्यक्ति को किसी राज्य का राज्यपाल नियुक्त कर सकेगा, जिसमें लोकसभा या राज्य विधानसभा का सदस्य बनने की योग्यता होगी।
  4. यदि संबंधित राज्य की व्यवस्थापिका उसे पद से हटाए जाने का प्रस्ताव स्वीकार करती है तो वह पदावधि से पूर्व भी पदमुक्त किय जा सकता है। 

उपरोक्त कथनों में से कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 2

B)

केवल 1, 2 और 3

C)

केवल 2, 3 और 4

D)

उपर्युक्त में से कोई नहीं।

Show Answer +
[5]

निम्नलिखित में से किसकी नियुक्ति राज्य के राज्यपाल द्वारा नहीं की जाती है?

A)

राज्य निर्वाचन आयुक्त की नियुक्ति।

B)

राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति।

C)

राज्य के महाधिवक्ता (Advocate-General of State) की नियुक्ति।

D)

राज्य विश्वविद्यालय के चांसलर की नियुक्ति।

Show Answer +
[6]

निम्नलिखित में से कौन राज्यपाल के प्रसादपर्यंत पद धारण करता/करते है/हैं?

  1. राज्य के मंत्री
  2. राज्य के महाधिवक्ता
  3. राज्य निर्वाचन आयुक्त
  4. राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष और सदस्य 

नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर का चयन कीजियेः

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 1, 2 और 3

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[7]

राज्यपाल की शक्तियों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये-

  1. संविधान में यह उपबंध है कि राज्य की कार्यपालिका शक्ति राज्यपाल में निहित होगी और वह इसका प्रयोग स्वयं या अपने अधीनस्थ अधिकारियों के द्वारा करेगा। 
  2. वह साहित्य, कला, विज्ञान, सहकारिता आन्दोलन एवं समाज सेवा के क्षेत्र में ज्ञान रखने वालों को विधान परिषद के लिये मनोनीत कर सकेगा और यह संख्या विधान परिषद के कुल सदस्यों की 1/6 भाग होगी।
  3. वह राज्य की विधानसभा में दो आंग्ल-भारतीय सदस्यों को मनोनीत कर सकता है। यदि उसे ऐसा लगे कि राज्य विधानसभा में उनका पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं है।

उपरोक्त कथनों में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 1 और 2

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[8]

राज्यपाल के अध्यादेश के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. संविधान के अनुच्छेद-123 के तहत राज्य के राज्यपाल को आध्यादेश जारी करने की शक्ति है।
  2. राज्यपाल किसी भी समय अध्यादेश को वापस ले सकता है।
  3. छः माह की समाप्ति पर अध्यादेश प्रवर्तन में नहीं रहेगा, यदि उससे पहले राज्य के विधानमंडल द्वारा स्वीकृति न मिली हो।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 2

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[9]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये-

  1. विधायी शक्ति के संबंध में राज्यपाल राज्य विधानमंडल का अंग होता है, उसी प्रकार जैसे राष्ट्रपति संसद का अंग होता है।
  2. राज्यपाल के पास आपातकालीन शक्ति नहीं है।
  3. क्षमादान शक्ति के मामले में राज्यपाल एवं राष्ट्रपति की शक्ति एक समान हैं।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[10]

किसी राज्य के राज्यपाल की विधायी शक्तियों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. राज्यपाल राज्य विधानसभा को आहुत कर सकता है, सत्रावसान कर सकता है, और भंग कर सकता है।
  2. राज्यपाल राज्य विधानसभा की बैठकों को स्थगित कर सकता है।
  3. राज्यपाल नवनिर्वाचित विधानसभा के प्रथम सत्र में अभिभाषण करता है।
  4. राज्यपाल वार्षिक बजट को राज्य विधानसभा के समक्ष रखवाता है।

उपर्युक्त में से कौन-से कथन सही हैं?

A)

केवल 1 और 3

B)

केवल 1, 3 और 4

C)

केवल 2, 3 और 4

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[11]

राज्य का राज्यपाल निम्नलिखित में से कौन-सी परिस्थिति में अध्यादेश जारी कर सकता है?

A)

जब केन्द्र सरकार उसे ऐसा करने के लिये कहे।

B)

जब राज्य में कानून एवं व्यवस्था की समस्या हो।

C)

जब भी राज्य की विधानसभा सत्र में न हो और राज्यपाल संतुष्ट हो कि ऐसी परिस्थितियाँ विद्यमान हैं, जिसके कारण तुरन्त कार्रवाई आवश्यक है।

D)

जब भी न्यायपालिका ऐसा करने की सलाह दे।

Show Answer +
[12]

किसी राज्य का राज्यपाल निम्नलिखित में से किन प्रतिवेदनों को राज्य की विधानसभा के समक्ष प्रस्तुत करता हैः-

  1. राज्य वित्त आयोग के प्रतिवेदन। 
  2. राज्य लोक सेवा आयोग के प्रतिवेदन। 
  3. नियंत्रक एवं महोलखा परीक्षक के प्रतिवेदन। 

नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर का चयन कीजियेः

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 1 और 2

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[13]

राज्य के गवर्नर द्वारा एक विधेयक राष्ट्रपति के विचारार्थ आरक्षित किया जाता है, तब राष्ट्रपतिः

  1. विधेयक पर अनुमति दे सकता है।
  2. विधेयक पर अनुमति रोक सकता है
  3. राज्यपाल को निर्देश देगा कि विधेयक को राज्य के विधानमंडल के सदन या सदनों को पुनर्विचार के लिये लौटा दे, किन्तु सदन या सदनों द्वारा संशोधन या बिना संशोधन के पारित कर राष्ट्रपति के समक्ष पुनः प्रस्तुत किया जाता है तो राष्ट्रपति अनुमति देने के लिये बाध्य है।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 1 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[14]

राज्य विधानमंडल द्वारा पारित विधेयक, उसके विधि बन जाने पर, राज्यपाल की राय में उच्च न्यायालय की शक्तियों का अल्पीकरण होगा, ऐसी स्थिति में राज्यपालः

A)

विधेयक पर स्वीकृति नहीं देगा।

B)

विधयेक पर स्वीकृति दे देगा।

C)

विधेयक को पुनर्विचार के लिये राज्य के विधानमंडल को वापस लौटा देगा।

D)

विधेयक को राष्ट्रपति के विचार के लिये आरक्षित नहीं रखेगा।

Show Answer +
[15]

राज्यपाल के संदर्भ में निम्ननिखत कथनों पर विचार कीजियेः

  1. राष्ट्रपति अध्यादेश का प्रयोग मंत्रिपरिषद की सलाह पर करता है, जबकि राज्यपाल के अध्यादेश की शक्ति स्वैच्छिक है।
  2. कोर्ट मार्शल (सैन्य अदालत) के तहत सज़ा प्राप्त व्यक्तियों की सज़ा को राष्ट्रपति संविधान के अनुच्छेद-72 के तहत और राज्यपाल संविधान के अनुच्छेद-161 के तहत माफ कर सकता है।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[16]

राज्यों के राज्यपाल के विवेकाधीन शक्तियों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. क्षमादान की शक्ति।
  2. अध्यादेश प्रख्यापित करने की शक्ति।
  3. राष्ट्रपति के विचारार्थ किसी विधेयक को आरक्षित करना।
  4. राज्यों में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करना।

उपर्युक्त में से कौन-से कथन सही हैं?

A)

केवल 1, 2 और 3

B)

केवल 3 और 4

C)

केवल 1, 3 और 4

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[17]

राज्यपाल के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है ?

A)

राज्यपाल की विवेकाधीन शक्ति की चर्चा संविधान में कहीं नहीं की गई है।

B)

विवेकाधीन शक्ति की संबंध में राज्यपाल का निर्णय अन्तिम होता है।

C)

राज्यपाल की विवेकाधीन शक्ति के संबंध में निर्णय को किसी न्यायालय में प्रश्नगत नहीं किया जा सकता है।

D)

राज्यपाल राज्य का संवैधानिक प्रमुख होने के साथ-साथ राष्ट्रपति का प्रतिनिधि भी होता है।

Show Answer +
[18]

राज्यपाल के चयन के विषय पर सरकारिया आयोग ने निम्नलिखित में से कौन-सा एक सुझाव नहीं दिया है?

A)

केन्द्र में सत्ताधारी दल के किसी राजनयिक की नियुक्ति नहीं होगी।

B)

ऐसे वियोजित व्यक्ति जिसकी राज्य की स्थानीय राजनीति से गहरी घनिष्ठता न हो, की नियुक्ति नहीं होगी।

C)

राज्यपाल के नियुक्ति की संबंध में मुख्यमंत्री से परामर्श करना अनिवार्य होना।

D)

राज्यपाल नामधारी शासक रहे न कि केन्द्र का अभिकर्त्ता या प्रतिनिधि।

Show Answer +
[19]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये-

  1. संसद विधि द्वारा किसी राज्य के राज्यापाल को किसी निकटवर्ती संघ राज्य क्षेत्र का प्रशासक नियुक्त कर सकती है।
  2. यदि कोई राज्य का राज्यपाल निकटवर्ती संघ राज्य के प्रशासक के रूप में कार्य करने हेतु नियुक्त होता है तो वह ऐसे प्रशासक के रूप में अपने कर्त्तव्यों का प्रयोग अपनी मंत्रिपरिषद से स्वतंत्र रहते हुए करेगा। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों 

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[20]

संविधान के मसौदे में निर्वाचित राज्यपालों के प्रावधानों की मूल योजना को छोड़ दिया गया, क्योकिः

  1. इसका तात्पर्य होगा दूसरा निर्वाचन। 
  2. निर्वाचन प्रमुख राजनीतिक मुद्दों पर लड़ा जाता है।
  3. निर्वाचित राज्यपाल अपने को मुख्यमंत्री से बड़ा समझता।
  4. राज्यपाल को संसदीय प्रणाली के अधीन ही कार्य करना था।

नीचे दिये गये कूट का प्रयोग कर सही उत्तर का चयन कीजियेः

A)

केवल 1 और 3

B)

केवल 1, 2 और 3

C)

केवल, 1, 3 और 4

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.